What is Diabetes in Hindi: मधुमेह क्या है, इसके प्रकार, इलाज

मधुमेह(Diabetes Mellitus) एक मेटाबोलिक विकार है और इस स्थिति में रक्त में शर्करा(ग्लूकोज) का स्तर आवश्यकता से अधिक मात्रा में हो जाता है।

यह मुख्य रूप से दो तंत्रों(Mechanism) के कारण होता है:

  1. शरीर इंसुलिन की अपर्याप्त मात्रा का उत्पादन करता है।
  2. शरीर इंसुलिन का उत्पादन करता है लेकिन शरीर में कई कोशिकाएं इसका सही से उपयोग करने में विफल रहती हैं।

इंसुलिन: इंसुलिन एक हार्मोन है जो अग्न्याशय(Pancreas), पेट के पीछे स्थित एक ग्रंथि द्वारा निर्मित होता है। शरीर में इंसुलिन की भूमिका ऊर्जा के लिए मौजूद ग्लूकोज का उपयोग करना है।

प्रकार/Types of Diabetes in Hindi

यह मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है:

  • टाइप 1
  • टाइप 2

टाइप 1 मधुमेह: यह एक ऐसी स्थिति है जब शरीर पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन करने में विफल रहता है। यह मुख्य रूप से एक ऑटोइम्यून बीमारी के कारण होता है, एक ऐसी स्थिति जब शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली(Immune system) गलती से इंसुलिन का उत्पादन करने वाले अग्न्याशय(Pancreas) पर हमला करती है।

टाइप 2 मधुमेह: यह एक ऐसी स्थिति है जब अग्न्याशय(Pancreas) में बीटा कोशिकाएं इंसुलिन का उत्पादन करने में सक्षम होती हैं, लेकिन शरीर इंसुलिन का कुशलता से उपयोग नहीं करता है। इसे “इंसुलिन प्रतिरोध”(Insulin Resistance) के रूप में भी जाना जाता है।

मधुमेह होने के कारण:/Causes of Diabetes in Hindi

मधुमेह के कारण इसके प्रकार के साथ भिन्न हो सकते हैं

टाइप 1 मधुमेह का कारण अज्ञात है, लेकिन शरीर की अपनी प्रतिरक्षा प्रणालीImmune System), जो आमतौर पर हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस से शरीर की रक्षा करना में मदद करती है, अग्न्याशय में बीटा कोशिकाओं(Beta cells) पर गलती से हमला करती है जो इंसुलिन का उत्पादन करती हैं।

टाइप 2 मधुमेह के विभिन्न कारण हो सकते है जैसे:

  • मोटापा या अधिक वजन
  • व्यायाम की कमी
  • आनुवंशिकी(Genetics)
  • गतिविधि की कमी(Lack of Activity)
  • तनाव (Stress)
  • अधिक प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ(Processed Food) का सेवन करना

आहार/Diet for Diabetes

कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो शरीर में आपके उच्च रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में आपकी मदद करते हैं

खाद्य पदार्थ जो आपको लेने चाहिए:

आपको पास ऐसे खाद्य पदार्थ लेने चाहिए, जिनमें फाइबर, प्रोटीन और वसा अधिक हो जैसे:

  • मछली
  • मुर्गी
  • सब्जिया
  • अंडे
  • फलियां
  • बादाम आदि
  • एवोकाडो
  • अलसी का बीज

खाद्य पदार्थों जो आपको लेने से बचना चाहिए:

  • सफ़ेद ब्रेड
  • पास्ता
  • चावल
  • मीठे पेय पदार्थ
  • फलों का रस
  • तले हुए खाद्य पदार्थ
  • ट्रांस वसा (Trans Fats)
  • पैकेज्ड स्नैक्स (Packaged foods)
  • शराब

Read about: Glycomet-GP 1 | Glimestar M1

उपचार/Treatment of Diabetes in Hindi

यह एक विकार है जिसका इलाज किया जा सकता है लेकिन इसे ठीक नहीं किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें:  Peptic Ulcer in Hindi: प्रकार, कारण, उपचार, सावधानियांं

टाइप, 1 और टाइप 2 मधुमेह दोनों का उपचार अलग है।

टाइप 1 मधुमेह का उपचार/Treatment of Type 1 Diabetes

अब जैसा कि हम जानते हैं कि टाइप 1 मधुमेह तब होता है जब शरीर पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता है। इसलिए इसका इलाज करने के लिए हमें शरीर को सामान्य कार्य करने के लिए इंसुलिन देना होगा।

टाइप 1 मधुमेह में शरीर को इंसुलिन देकर मानक उपचार किया जाता है। आपने देखा होगा कि लोग नियमित रूप से इंसुलिन के इंजेक्शन लगाते हैं, वे वास्तव में टाइप 1 मधुमेह से पीड़ित होते हैं और उन्हें आंतरिक रूप से पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन की आवश्यकता होती है, क्योंकि उनके शरीर इसे आंतरिक रूप से नहीं बना सकते हैं।

टाइप 1 मधुमेह से पीड़ित हर किसी को एक ही राशि और एक ही प्रकार के इंसुलिन की आवश्यकता नहीं होती है। इंसुलिन के कई प्रकार और खुराक होते हैं और रोगियों के साथ भिन्न होते हैं।

इसके अलावा, आप अपनी जीवन शैली और आहार को बदलकर टाइप 1 मधुमेह का प्रबंधित(Manage) कर सकते हैं जैसे कि स्वस्थ भोजन खाएं, अपने शरीर के वजन को प्रबंधित(Manage) करने के लिए रोजाना व्यायाम करें, अपने कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा के सेवन का हिसाब रखें।

टाइप 2 मधुमेह का उपचार/Treatment of Type 2 Diabetes in Hindi

टाइप 2 मधुमेह का इलाजआमतौर पर हाइपोग्लाइसेमिक ड्रग्स(Oral Hypoglycemic Drugs) के रूप में जानी जाने वाली दवाओं के वर्ग द्वारा किया जाता है।

विभिन्न प्रकार की हाइपोग्लाइसेमिक दवाएं हैं जो शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए अलग-अलग कार्य करती हैं।

कोई व्यक्ति जो टाइप 2 मधुमेह से पीड़ित है, को अपने रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए प्रतिदिन इन दवाओं की मौखिक खुराक लेनी पड़ती है।

टाइप 2 मधुमेह के लिए दवा की खुराक और प्रकार रोगी की स्थिति के साथ भिन्न होते हैं।

टाइप 2 मधुमेह आमतौर पर एक निष्क्रिय जीवन शैली(Inactive Lifestyle), खराब खाने की आदतों, मोटापे, व्यायाम की कमी और तनाव के कारण होता है। ये ऐसी चीजें हैं जिन्हें आप आसानी से उच्च रक्त शर्करा के स्तर को प्रबंधित करने के लिए बदल सकते हैं।

चीजें जो आपको टाइप 2 मधुमेह का प्रबंधन(Manage) करने में मदद करेंगी

  • नियमित व्यायाम करें और अपने वजन को नियंत्रित करें
  • ऐसा खाना खाएं जिसमें फाइबर अधिक हो
  • कार्बोहाइड्रेट का सेवन नियंत्रित करें
  • कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स(Glycemic Index) वाले खाद्य पदार्थ चुनें
  • अगर आप मोटे हैं तो अपना वजन कम करें
  • ब्लड शुगर लेवल की नियमित रूप से जाँच करें
  • पर्याप्त गुणवत्ता वाली नींद लें
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीयें

To Read This Article in English, Click Here.

Sahil Nasa (B. Pharma)
Sahil Nasa (B. Pharma)

साहिल पेशे से फार्मासिस्ट है। इन्हें किताबें पढ़ना और ब्लॉग लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *