Cosvate-GM Cream in Hindi: उपयोग, कैसे इस्तेमाल करे?

Cosvate-GM Cream in Hindi

Compositionक्लोबेटासोल (0.05% w/w) + जेंटामाइसिन (0.1% w/w) + मिकोनाजोल (2% w/w)
कंपनीOaknet Healthcare Pvt Ltd
दवा का प्रकारकॉर्टिकोस्टेरॉइड, एंटीबायोटिक, एंटी फंगल
प्रिस्क्रिप्शन आवश्यक हैहाँ
उपयोगबैक्टीरियल और फंगल त्वचा संक्रमण
दुष्प्रभावजलन, एलर्जी की प्रतिक्रिया
सावधानियांंअतिसंवेदनशीलता

कोसवेट-जीएम क्रीम के सामान्य उपयोग / General uses of Cosvate-GM Cream in Hindi

कोसवेट-जीएम क्रीम तीन दवाओं का एक संयोजन है। इसका उपयोग बैक्टीरियल और फंगल त्वचा संक्रमण (bacterial and fungal skin infection) के उपचार में किया जाता है। इस क्रीम में मौजूद क्लोबेटासोल त्वचा संक्रमण से संबंधित इन्फ्लेमेशन (सूजन, जलन और लालिमा) को कम करने में मदद करता है।

इसका उपयोग मामूली त्वचा संक्रमण (इम्पेटिगो, फॉलिकुलिटिस) और कुछ अन्य त्वचा स्थितियों (एक्जिमा या मामूली जलन/कट/घाव) के इलाज के लिए किया जाता है।

कोसवेट-जीएम क्रीम कब निर्धारित की जाती है? / When Cosvate-GM Cream is prescribed?

कोसवेट-जीएम क्रीम बैक्टीरियल और फंगल त्वचा संक्रमण के उपचार में प्रयोग की जाती है। इस दवा में मौजूद जेंटामाइसिन और मिकोनाजोल त्वचा संक्रमण को ठीक करने में मदद करते है जबकि क्लोबेटासोल इन संक्रमणों से सम्बंधित सूजन, जलन और लालिमा को दूर करने में मदद करता है।

Tips related to Cosvate-GM Cream / कोसवेट-जीएम क्रीम से जुड़े कुछ सुझाव

  • कोसवेट-जीएम क्रीम को दिन में 1-2 बार प्रयोग करना संतोषजनक होता है। इसे दिन में दो बार से ज्यादा इस्तेमाल न करें।
  • कोसवेट-जीएम क्रीम का इस्तेमाल ज्यादा लम्बे समय तक ना करें।
  • इस क्रीम को लगाने से पहले और बाद में अपने हाथो को जरूर धोएं।
  • इस दवा को आँख, नाक, मुँह में जाने से बचाएं। अगर यह गलती से आपकी नाक, मुँह, और आँख में चली जाती है तो इसे तुरंत पानी से धो लें।

कोसवेट-जीएम क्रीम के साइड इफेक्ट्स / Side effects of Cosvate-GM Cream in Hindi

कुछ मामलों में, कोसवेट-जीएम क्रीम के कारण कुछ दुष्प्रभाव हो सकते है जैसे:

  • जलन
  • खुजली
  • एलर्जी
  • त्वचा का पतला होना
  • लालपन

कोसवेट-जीएम क्रीम का उपयोग कैसे करें? / How to use Cosvate-GM Cream in Hindi?

  • कोसवेट-जीएम क्रीम का उपयोग केवल तभी किया जाना चाहिए जब यह आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित की गई हो।
  • साफ और सूखे हाथों से प्रभावित जगह पर कोसवेट-जीएम क्रीम को लगाएं।
  • इस क्रीम को लगाने से पहले और बाद में हमेशा अपने हाथ धोएं।
  • अगर यह आपकी आंखों, मुंह और नाक में चली जाती है, तो तुरंत इसे पानी से धो लें।

सावधानियांं / Precautions

अतिसंवेदनशीलता: यदि आपको कभी भी क्लोबेटासोल, जेंटामाइसिन या मिकोनाजोल के प्रति अतिसंवेदनशीलता (एलर्जी) महसूस हुई है, तो आपको कोसवेट-जीएम क्रीम का उपयोग नहीं करना चाहिए।

गर्भावस्था और स्तनपान: गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस क्रीम का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

अपने डॉक्टर को बताएं अगर: / Tell your doctor if:

  • आपको क्लोबेटासोल, जेंटामाइसिन या मिकोनाजोल से एलर्जी है।
  • आपको इस क्रीम का उपयोग करने के बाद त्वचा पर चकत्ते (rashes) या जलन का सामना करना पड़ रहा है।

कोसवेट-जीएम क्रीम की सामग्री / Ingredients of Cosvate-GM Cream

Clobetasol: कोसवेट-जीएम क्रीम में क्लोबेटासोल (0.05% w/w) होता है। यह कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के रूप में जानी जाने वाली दवाओं के वर्ग से संबंधित है। यह आमतौर पर एक्जिमा, डर्मेटाइटिस और अन्य त्वचा से सम्बंधित एलर्जिक एवं इंफ्लेमेटरी प्रतिक्रियाओं के लिए निर्धारित किया जाता है।

यह भी पढ़ें:  Ofloxacin Tablet in Hindi: उपयोग, दुष्प्रभाव, सावधानियांं

Gentamicin: इसमें जेंटामाइसिन (0.1% w/w) होता है। जेंटामाइसिन दवाओं के एक वर्ग से संबंधित है जिसे एमिनोग्लाइकोसाइड्स एंटीबायोटिक्स के रूप में जाना जाता है। यह मुख्य रूप से त्वचा के जीवाणु संक्रमण (bacterial infection) के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।

Miconazole: इसमें मिकोनाजोल (2%w/w) होता है। मिकोनाजोल, इमिडाज़ोल एंटीफंगल के रूप में जानी जाने वाली दवाओं के वर्ग से संबंधित है। यह आमतौर पर फंगल संक्रमण के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है।

कोसवेट-जीएम क्रीम कैसे काम करती है? / Mode of action

कोसवेट-जीएम क्रीम में क्लोबेटासोल शरीर में कई रासायनिक संदेशवाहकों (chemical messengers) को रोककर काम करता है जो सूजन, जलन और लालिमा के लिए जिम्मेदार होते हैं।

इस क्रीम में जेंटामाइसिन एक एंटीबायोटिक है। यह 30S राइबोसोम से जुड़कर बैक्टीरियल सेल की दीवार में प्रोटीन संश्लेषण को अवरुद्ध करता है। इसके परिणामस्वरूप यह जीवाणुरोधी क्रिया (antibacterial action) दिखाता है।

जबकि इस क्रीम में मौजूद मिकोनाजोल 14α-डाइमेथिलेज एंजाइम को रोककर लैनोस्टेरॉल से एर्गोस्टेरॉल के संश्लेषण में बाधा डालकर काम करता है। इस प्रकार एर्गोस्टेरॉल के संश्लेषण को बाधित करने से कवक (fungi) की कोशिका झिल्ली (cell membrane) नष्ट हो जाती है और फंगल संक्रमण का इलाज करने में मदद मिलती है।

कोसवेट-जीएम क्रीम के विकल्प / Substitutes of Cosvate-GM Cream

Cloderm GM CreamCipla Ltd
Sonaderm-Gm CreamBlue Cross Laboratories Ltd

कुछ सामान्य प्रश्न

कोसवेट-जीएम क्रीम किस काम आती है?

कोसवेट-जीएम क्रीम बैक्टीरियल और फंगल त्वचा संक्रमण के उपचार में प्रयोग की जाती है। इसमें मौजूद क्लोबेटासोल त्वचा संक्रमण से संबंधित इन्फ्लेमेशन (सूजन, जलन और लालिमा) को कम करने में मदद करता है।

क्या काले धब्बे के उपचार के लिए कोसवेट-जीएम क्रीम का प्रयोग किया जा सकता है?

नहीं, कोसवेट-जीएम क्रीम काले धब्बों के उपचार के लिए उपयोग नहीं की जा सकती है। यह क्रीम केवल बैक्टीरियल और फंगल त्वचा संक्रमण के उपचार में सहायक है।

क्या मुँहासे और pimples के लिए कोसवेट-जीएम क्रीम का प्रयोग किया जा सकता है?

नहीं, कोसवेट-जीएम क्रीम का उपयोग मुहांसों और फुंसियों के उपचार के लिए नहीं किया जा सकता है। मुँहासे के लिए इसका उपयोग करने से स्थिति और ज्यादा खराब हो सकती है।

क्या मैं गोरा होने के लिए कोसवेट-जीएम क्रीम का उपयोग कर सकता हूं?

नहीं, कोसवेट-जीएम क्रीम में कोई भी तत्व ऐसा नहीं है जो आपकी त्वचा को गोरा बना सके।

सारांश / Summary

कोसवेट-जीएम क्रीम तीन दवाओं यानि क्लोबेटासोल, जेंटामाइसिन और मिकोनाजोल से मिलकर बनी है। इसका उपयोग विभिन्न तरह के त्वचा संक्रमण के उपचार और उससे जुडी सूजन, जलन और लालिमा को कम करने के लिए किया जाता है।

यह अन्य त्वचा स्थितियों जैसे डर्मेटाइटिस, एक्जिमा और कुछ मामूली त्वचा कट/घावों के लिए भी निर्धारित की जा सकती है।

चेतावनी: Pharmababa.com में निहित जानकारी उपभोक्ताओं को शिक्षित करने के उद्देश्य से प्रस्तुत की गई है। Pharmababa.com में निहित कुछ भी चिकित्सीय निदान या उपचार के लिए अनुदेशात्मक नहीं है। Pharmababa.com में प्रस्तुत की गई सूचना को पूर्ण नहीं माना जाना चाहिए, न ही किसी विशेष व्यक्ति के लिए उपचार के पाठ्यक्रम का सुझाव देने के लिए इस पर भरोसा किया जाना चाहिए। Pharmababa.com में प्राप्त जानकारी संपूर्ण नहीं है और सभी बीमारियों, शारीरिक स्थितियों या उनके उपचार को कवर नहीं करती है।

Sahil Nasa (B. Pharma)
Sahil Nasa (B. Pharma)

साहिल पेशे से फार्मासिस्ट है। इन्हें किताबें पढ़ना और ब्लॉग लिखना पसंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *