Calcitas-D Tablet in Hindi: उपयोग, दुष्प्रभाव, सावधानियांं

Calcitas-D Tablet in Hindi

संरचना (composition)कैल्शियम (500mg) + विटामिन डी3 (250 IU)
कंपनीIntas Pharmaceuticals Ltd
दवा का प्रकारखनिज (mineral) + विटामिन सप्लीमेंट
प्रिस्क्रिप्शन आवश्यक हैनहीं
उपयोगकैल्शियम की कमी, हड्डी विकार (bone disorders)
दुष्प्रभावHypercalcemia, कब्ज, मांसपेशियों में दर्द
सावधानियांंअतिसंवेदनशीलता, जिगर या गुर्दे की बीमारी

कैल्सीटास-डी टैबलेट के सामान्य उपयोग / General uses of Calcitas-D Tablet in Hindi

कैल्सीटास-डी टैबलेट दो दवाओं से मिलकर बनी है। यह आमतौर पर कैल्शियम की कमी की रोकथाम और उपचार में प्रयोग की जाती है।

Calcitas-D Tablet का उपयोग शरीर में कैल्शियम के स्तर के कम होने (low calcium levels) से जुड़ी स्थितियों जैसे हाइपोकैल्सीमिया (शरीर में कैल्शियम का स्तर सामान्य से कम होना), ऑस्टियोपोरोसिस (छिद्रपूर्ण हड्डियां), ऑस्टियोपीनिया (हड्डी का घनत्व कम होना), और रिकेट्स या ऑस्टियोमलेशिया (हड्डियों का नरम होना) के उपचार में किया जाता है।

कैल्शियम की कमी को रोकने के लिए गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान भी इसको लेने की अनुशंसा की जा सकती है।

Calcitas-D Tablet की सामग्री / Ingredients of Calcitas-D Tablet

कैल्शियम: कैल्सीटास-डी टैबलेट में कैल्शियम (500mg) होता है। कैल्शियम एक महत्वपूर्ण खनिज है जो हमारी हड्डियों और दांतों को मजबूत रखने के लिए आवश्यक है। यह हृदय, तंत्रिकाओं (nerves), और मांसपेशियों के कार्यों को करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कैल्शियम रक्त के थक्के जमने (blood clotting) में भी मदद करता है।

विटामिन डी3: कैल्सीटास-डी टैबलेट में विटामिन डी3 (250 IU) होता है। विटामिन डी3 शरीर को भोजन से अधिक कैल्शियम और फॉस्फोरस को अवशोषित (absorb) करने में मदद करता है और कैल्शियम की कमी को रोकने और उसका इलाज करने में मदद करता है।

कैल्सीटास-डी टैबलेट कैसे काम करती है? / Mechanism of action

कैल्सीटास-डी टैबलेट में कैल्शियम शरीर की कैल्शियम की आवश्यकता को पूरा करके काम करता है जबकि इस टैबलेट में विटामिन डी3 शरीर को भोजन से अधिक कैल्शियम को अवशोषित करने में मदद करता है।

इस दवा के दोनों तत्व शरीर की कैल्शियम की आवश्यकता को पूरा करने के लिए एक साथ काम करते हैं और शरीर में कैल्शियम के निम्न स्तर (low levels) से जुड़ी स्थितियों को रोकने और उनका इलाज करने में मदद करते हैं।

Calcitas-D Tablet कब निर्धारित की जाती है? / When Calcitas-D Tablet is prescribed?

कैल्सीटास-डी टैबलेट आमतौर पर शरीर के कैल्शियम के स्तर के कम होने से जुड़ी स्थितियों में निर्धारित की जाती है जैसे:

हाइपोकैल्सीमिया: एक ऐसी स्थिति जिसमें रक्त में कैल्शियम का स्तर सामान्य से बहुत कम हो जाता है। आपका डॉक्टर हाइपोकैल्सीमिया के इलाज के लिए कैल्सीटास-डी टैबलेट को लेने की सलाह दे सकता है।

ऑस्टियोपोरोसिस: ऑस्टियोपोरोसिस का अर्थ है “छिद्रपूर्ण हड्डियां”। यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें हड्डियां नाज़ुक और कमजोर हो जाती हैं। यह मुख्य रूप से कम कैल्शियम के सेवन के कारण होता है। कैल्सीटास-डी टैबलेट शरीर में कैल्शियम की आवश्यकता को पूरा करने में मदद करती है और आमतौर पर ऑस्टियोपोरोसिस के उपचार और रोकथाम में इसकी अनुशंसा की जाती है।

ऑस्टियोमलेशिया: ऑस्टियोमलेशिया का अर्थ है “नरम हड्डियां”। यह एक ऐसी स्थिति है जब हड्डियां नरम हो जाती हैं और उनके टूटने की संभावना बढ़ जाती है। यह मुख्य रूप से विटामिन डी की कमी के कारण होता है। ऑस्टियोमलेशिया के रोगियों में विटामिन डी की आवश्यकता को पूरा करने के लिए कैल्सीटास-डी टैबलेट को निर्धारित किया जा सकता है।

Hypoparathyroidism: यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर पैराथाइरॉइड हार्मोन (PH) का उत्पादन करना कम कर देता है। पैराथाइरॉइड हार्मोन शरीर में कैल्शियम और फास्फोरस के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। पैराथाइरॉइड हार्मोन के कम उत्पादन से रक्त में कैल्शियम का स्तर कम हो जाता है। हाइपरपैराथायरायडिज्म के मरीज़ों को कैल्सीटास-डी टैबलेट लेने की सलाह दी जा सकती है।

विटामिन डी की कमी: विटामिन डी की कमी वाले रोगियों में कैल्सीटास-डी टैबलेट को लेने की अनुशंसा की जा सकती है।

गर्भावस्था और स्तनपान: कैल्शियम की कमी को रोकने के लिए कैल्सीटास-डी टैबलेट को गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए भी निर्धारित किया जा सकता है।

कैल्सीटास-डी टैबलेट के दुष्प्रभाव / Side effects of Calcitas-D Tablet in Hindi

कैल्सीटास-डी टैबलेट के कारण कुछ दुष्प्रभाव हो सकते है जैसे:

  • भूख कम लगना
  • उलटी अथवा मितली
  • कब्ज
  • मांसपेशियों में दर्द
  • ज्यादा प्यास लगना
  • Hypercalcemia

सावधानियांं / Precautions

अतिसंवेदनशीलता: यदि आप कैल्सीटास-डी टैबलेट की किसी भी सामग्री के प्रति अतिसंवेदनशील (एलर्जिक) हैं तो आपको इस दवा का उपयोग करने से बचना चाहिए।

लीवर या किडनी की बीमारी: किसी भी तरह की लीवर या किडनी की बीमारी से पीड़ित मरीजों को सावधानी के साथ कैल्सीटास-डी टैबलेट का इस्तेमाल करना चाहिए।

गर्भावस्था और स्तनपान: गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को कैल्सीटास-डी टैबलेट का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

कैल्सीटास-डी टैबलेट का इस्तेमाल कैसे करें? / How to use Calcitas-D Tablet?

अपने डॉक्टर से सलाह के अनुसार कैल्सीटास-डी टैबलेट की खुराक लें।

बेहतर अवशोषण (absorption) के लिए आपको भोजन करने के बाद कैल्सीटास-डी टैबलेट को लेना चाहिए।

टैबलेट को चबाएं, कुचलें, या तोड़ें नहीं। इसे पूरी तरह से निगल लें।

भंडारण / Storage

कमरे के तापमान पर कैल्सीटास-डी टैबलेट को स्टोर करें।

इस दवा को सीधी धूप से दूर रखें।

इस दवा को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें।

अपने डॉक्टर को बताएं अगर: / Tell your doctor if:

  • आपको कैल्सीटास-डी टैबलेट के किसी भी अवयव से एलर्जी है।
  • आप गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिला हैं।
  • आपको लीवर या किडनी की कोई बीमारी है।
  • आप कुछ अन्य दवाएं ले रहे हैं।
  • आप कुछ अन्य विटामिन सप्लीमेंट ले रहे हैं।

कैल्सीटास-डी टैबलेट के विकल्प / Substitutes of Calcitas-D Tablet

Shelcal 500 TabletTorrent Pharmaceuticals Ltd
Sandocal 500 TabletGlaxoSmithKline Consumer Healthcare
Dailycal-500 TabletSystopic Laboratories Pvt Ltd
Maxical-500 TabletMankind Pharma Ltd
Cipcal 500 TabletCipla Ltd

कुछ सामान्य प्रश्न

कैल्सीटास-डी टैबलेट के क्या प्रयोग हैं?

कैल्सीटास-डी टैबलेट दो दवाओं से मिलकर बनी है। यह आमतौर पर शरीर के कैल्शियम के स्तर के कम होने से जुड़ी स्थितियों जैसे हाइपोकैल्सीमिया, ऑस्टियोपोरोसिस, और ऑस्टियोमलेशिया के उपचार में उपयोग की जाती है।

क्या गर्भावस्था के दौरान कैल्सीटास-डी टैबलेट का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

हाँ, आपका डॉक्टर कैल्शियम की कमी को रोकने के लिए गर्भावस्था में कैल्सीटास-डी टैबलेट को लेने की सलाह दे सकता है। लेकिन आपको गर्भावस्था में इस दवा का उपयोग तभी करना चाहिए जब यह आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित की गई हो।

क्या मैं कैल्सीटास-डी टैबलेट को दूध के साथ ले सकता हूँ?

हाँ, आप कैल्सीटास-डी टैबलेट को दूध के साथ ले सकते हैं।

वयस्कों के लिए कैल्सीटास-डी टैबलेट की खुराक और अवधि क्या है?

वयस्कों के लिए, कैल्सीटास-डी टैबलेट को आमतौर पर दिन में एक बार एक टैबलेट लेने की सलाह दी जाती है। लेकिन इस दवा की खुराक और अवधि सभी के लिए समान नहीं है और कई कारकों पर निर्भर करती है। इस दवा की खुराक और अवधि के बारे में आपको हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

सारांश / Summary

कैल्सीटास-डी टैबलेट दो दवाओं यानी कैल्शियम और विटामिन डी3 से मिलकर बनी है। यह दवा मुख्य रूप से कैल्शियम की कमी के कारण होने वाली स्थितियों जैसे हाइपोकैल्सीमिया (शरीर में सामान्य से कम कैल्शियम का स्तर), ऑस्टियोपोरोसिस (छिद्रपूर्ण हड्डियां), ऑस्टियोमलेशिया (हड्डियों का नरम होना), और ऑस्टियोपीनिया (हड्डियों का कम घनत्व) के उपचार में उपयोग की जाती है।

कैल्शियम की कमी को रोकने के लिए यह दवा गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए भी निर्धारित की जा सकती है।

लीवर या किडनी से जुड़ी किसी भी बीमारी से पीड़ित मरीजों में सावधानी के साथ कैल्सीटास-डी टैबलेट का इस्तेमाल करना चाहिए।

चेतावनी: Pharmababa.com में निहित जानकारी उपभोक्ताओं को शिक्षित करने के उद्देश्य से प्रस्तुत की गई है। Pharmababa.com में निहित कुछ भी चिकित्सीय निदान या उपचार के लिए अनुदेशात्मक नहीं है। Pharmababa.com में प्रस्तुत की गई सूचना को पूर्ण नहीं माना जाना चाहिए, न ही किसी विशेष व्यक्ति के लिए उपचार के पाठ्यक्रम का सुझाव देने के लिए इस पर भरोसा किया जाना चाहिए। Pharmababa.com में प्राप्त जानकारी संपूर्ण नहीं है और सभी बीमारियों, शारीरिक स्थितियों या उनके उपचार को कवर नहीं करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.